श्री हनुमान जी की आरती ।। Shree Hanuman Ji Aarti ।।

आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्टदलन रघुनाथ कला की ।। जाके बल से गिरिवर काँपे…