श्री राम स्तुति ।। Shree Ram Stuti ।।

श्रीरामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणम । नवकंज-लोचन, कंजमुख, कर-कंज, पद कंजारुणम ।। कंदर्प अगणित…