अरि बरसाने बजी बधाई, कीरति ने… – Shri Radha Janam Badhai

Ari Barsane Baji Badhai, Kirati Ne Lali Jaai

अरि बरसाने बजी बधाई, कीरति ने लाली जाई ।।

वन्दनवार बंधे महलन में

अरि ऊँचे पै धुजा लगाई, कीरति ने..।

उमा रमा वाय धन्य कहें

अरि जो बरसाने की दाई, कीरति ने..।

हार दियौ हियरे कौ रानी

अरि वाय खपरा रतन भराई, कीरति ने..।

भानुमति राधा की भूआ

अरि वो लेत नेग मन भाई, कीरति ने..।

दौरी-दौरी फ़िरें मलिनियाँ

अरि वो तो फूलन गजरे लाई, कीरति ने..।

दौरी-दौरी फ़िरें ढाढिनी

अरि वांसावलि नाच सुनाई, कीरति ने..।

जसुदा गावत चली बंधाये

अरी वो तो भानुराय घर आई, कीरति ने..।

कनक थार में नीली झंगुली

अरि वो चूरो हंसली लाई, कीरति ने..।

चकवा चकई भौंरा भौंरी

अरि वो संग में कुंवर कन्हाई, कीरति ने..।

धन्य कूंख कीरति मैया की

अरि जाते राधा ब्रज में आई, कीरति ने..।

जुग-जुग जीवै लली भानु की

अरि सब दें असीस सुखदाई, कीरति ने..।

—–०—–