श्री शक्ति वन्दना।। Shree Shakti Vandana ।।

श्री शक्ति वन्दना ।। Shree Shakti Vandana ।।

।। शक्ति वन्दना ।।

वह शक्ति हमें दो दयानिधे, कर्तव्य मार्ग पर डट जावें।

पर सेवा पर उपकार में हम, निज जीवन सफल बना जावें।।

हम दीन दुखी निबलों विकलों, के सेवक बन संताप हरें।

जो हों भूले भटके बिछुड़े, उनको तारें खुद तर जावें।।

छल दम्भ द्वेष पाखंड झूठ, अन्याय से निसदिन दूर रहें।।

जीवन हो शुद्ध सरल अपना, शुचि प्रेम सुधा रस बरसावें।।

निज आन मान मर्यादा का, प्रभु ध्यान रहे अभिमान रहे।

जिस देश जाति में जन्म लिया, बलिदान उसी पर हो जावें।।

……………..