श्री राधारानी कीर्तन ।। Shree Radharani Kirtan ।।

— तोहि बार-बार सुमिरूँ — तोहि बार-बार सुमिरूँ हे राधारानी । तोहि निसिदिन सुमिरूँ हे राधारानी…

स्नेह सवैया ।। Sneh Savaiya ।।

आप बसौ बरसाने अली वृषभानु लली सुधि मेरी बिसारी । कोमल चित्त दीनन के हित्त नित्त…

सेवा कुञ्ज में मंगला भोग के पद ।। Mangla Bhog Pad ।।

    ।। राग गीत ।। माखन खा गया बिहारी मेरा हँस-हँस के । माखन खा…